ईद के दिन सब ख़ुश रहते हैं। लेकिन बच्चों की ख़ुशी का क्या कहना!

ईद के दिन सब ख़ुश रहते हैं। लेकिन बच्चों की ख़ुशी का क्या कहना!

माहे रमजान शरीफ के रोजे मुकम्मल होने के बाद शव्वाल महीने का पहला दिन होता है ईद का दिन। जो खुशियों का, आपस में प्यार बांटने का, जरूरतमंदो की मदद